श्रद्धा और आनंद से परिपूर्ण एक यात्रा

Badrinath

Image Source: Wikipedia

घूमना मुझे शुरू से ही अच्छा लगता है । और छुट्टियों में प्रोग्राम भी बनाते हैं । पर एक सपना रहा कि कभी बद्रीनाथ केदारनाथ जी के लिए प्लान करूँ ।एक तरफ नदी , एक तरफ पहाड़, पहाड़ों से फूटते झरने, बड़े बड़े पत्थर, ग्लेशियर, कल कल की पानी की आवाज , ये सब सोचकर ही रोमांच सा हो जाता है । इसलिए इस बार प्लान कर ही लिया कि बद्रीनात केदारनाथ जाना है ।

इसके लिए इंनोवा बुक की है 7-8 दिन के लिए ।घर से सीधे हरिद्वार जाएंगे ।वहां हर की पैड़ी पर स्नान करके मनसा देवी और चण्डी देवी के दर्शन करेंगे । शाम की आरती देखकर रात को वहीँ रूककर सुबह बदरीनाथ के लिए रवाना होंगे ।

रास्ते में देवप्रयाग रुद्रप्रयाग आदि के दर्शन करते हुए नदियों पहाड़ों का लुत्फ़ उठाते हुए बद्रीनाथ पहुंचेंगे ।रजिस्ट्रेशन पहले ही ओन लाइन करवा लेंगे ताकि परेशानी न हो । रात को बदरीनाथ जी की आरती देखेंगे । और होटल चले जाएंगे जो पहले से ही बुक किया हुआ होगा । अगले दिन सुबह 4 बजे कुण्ड में स्नान करने जाएंगे । बहुत सुना है इस कुण्ड के बारे में । अगर कच्चे चावलों की पोटली इसमें डाल दो तो कुछ देर में चावल पक जाते हैं । इतना गर्म होता है पानी यहाँ का । सच में कितना आनंद आएगा इतने गर्म कुण्ड में स्नान करने में । इसके बाद फिर सुबह की आरती देखेंगे । बाजार में घूमेंगे । फिर शाम की आरती देखेंगे और रात में वही रूककर अगले दिन सुबह माना गॉंव के लिए निकलेंगे ।

माना गॉंव सुना है हमारे देश का आखिरी गॉंव है । देश की सीमा और ये माना गॉंव देखना वाकई अप्रतिम अनुभव होगा ।सरस्वती नदी का उद्गम भी यही से हुआ है । देश की सीमा पर आखिरी गॉंव की आखिरी दूकान पर बैठकर चाय पीना एक अनोखा अनुभव होगा ।

कुछ देर वहां रुककर चल पड़ेंगे केदारनाथ की ओर । यहाँ हम हेलीकाप्टर सेवा का उपयोग करेंगे । इसके लिए भी बुकिंग हम पहले से ही करवा लेंगे । हमें बस गाडी से वहां पहुंचना होगा जहाँ पर हेलिकप्टर सेवा उपलब्ध होगी । वहां पर रहने खाने की व्यवस्था भी यही से ऑन लाइन पहले ही करवा देंगे । सुना है वहां पर टेंट की व्यवस्था होती है जिसमे बढ़िया होटलों वाली सारी सुविधाएं होती हैं । कितना रोमांचक होगा न ऐसी जगह पर रुकना और प्रक्रति को इतने करीब से देखना ।

रात यही बिताकर अगले दिन सवेरे ही निकल पड़ेंगे केदारनाथ जी के लिए हेलीकाप्टर से ।सबसे पहले तो हेलीकाप्टर में बैठना और वो भी इतने ऊँचे ऊँचे पहाड़ों के बीच में से निकलकर , ये सब सोचकर ही उत्साहित हूँ । फिर वहां पहुँच कर बाबा केदारनाथ जी के दर्शन करेंगे । 5-6 घंटे वही रूककर प्रकृति का आनंद लेंगे । फिर हेलीकाप्टर से वापस टेंट आ जायेंगे । वहां लंच लेकर फिर उतरने की तैयारी ।और फिर सीधे हरिद्वार । गंगा जी में नहाकर वहां रुकेंगे और अगले दिन वहां से चलकर अपने घर वापस ।

ये है मेरा ड्रीम वेकेशन प्लान । जिसे सोचकर ही इतना उत्साहित हूँ तो सोचिये वहां जाकर क्या होगा । निश्चित तौर पर अनगिनत प्यारी प्यारी यादें लेकर लौटूंगी मैं वहां से ।

जल्दी और आसानी से होटल और टिकट बुक करने के लिए यात्रा की वेबसाइट पर जाकर बुकिंग करा सकते हैं। फ्लाइट की टिकट कराने के लिए Domestic Airlines पर जाकर बुकिंग करा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *