images (11)

मुक्तक (61 )

  (181 ) अभिनन्दन करते हैं आज तुम्हारा है साथ तुम्हारे आशीष हमारा अपनी जान बसी है जिसमें हर पल सौंप दिया तुमको वो अपना प्यारा (182 ) किताबों में जहां कब ढ़ूँढता है वो जहाँ गूगल वहीँ पर डूबताRead more…

images (7)

मुक्तक (57 )

          (169 ) चाँद तुझको मान तेरी चाँदनी में झूम लूँ या तुझे सूरज समझ कर धूप बनकर घूम लूँ मिट गया तम ज़िन्दगी का फूल खुशिओं के खिले मन करे भर कर हथेली में तुझेRead more…

images (6)

मुक्तक (56 )

          (166 ) नफरतों को छोड़कर बस प्यार करना चाहिए यदि मिले कोई दुखी संताप हरना चाहिए ज़िन्दगी है चार दिन की ध्यान ये रखना सदा सिर्फ अपने फर्ज पर हर वक्त मरना चाहिए (167 )Read more…

morning-walk-by-terrill-welch-2012_09_15-375

खूबसूरत ज़िन्दगी की खुशनुमा सुबह

ज़िंदगी एक ऐसा सफर है जहां तरह तरह के अनुभव रोज ही होते रहते है। कभी ज़िंदगी बहुत खुशनुमा लगती है तो कभी ग़मों से बोझिल सी लगती है। अक्सर यही होता है कि हम दुःख के समय में नकारात्मकता से भर जाते है। हर चीज़ हमें ख़राब ही लगती है। ऐसे में बहुत सी घटनाएँ ऐसी दिख जाती है जो हमारे अंदर उत्साह भर देती हैंRead more…